समाचार
कैबिनेट ने आईटी हार्डवेयर के क्षेत्र ₹7,350 करोड़ की पीएलआई योजना को दी स्वीकृति

केंद्र सरकार ने बुधवार (24 फरवरी) को लैपटॉप, टैब, ऑल-इन-वन पीसी और सर्वर के निर्माण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से आईटी हार्डवेयर के क्षेत्र में भी उत्पादन आधारित प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना को अपनी अनुमति दे दी है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, कैबिनेट की बैठक के बाद संचार और आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया, “केंद्रीय कैबिनेट ने आईटी हार्डवेयर सेक्टर के लिए 7,350 करोड़ रुपये की पीएलआई योजना को स्वीकृति दी है। इसमें आईटी हार्डवेयर के लैपटॉप, टैब, ऑल-इन-वन पीसी और सर्वर समाहित होंगे।”

उन्होंने कहा, “केंद्रीय कैबिनेट ने फार्मास्यूटिकल क्षेत्र के लिए भी पीएलआई योजना को स्वीकृति दी है। यह योजना वित्त वर्ष 2020-21 से 2028-29 तक के लिए है। इसका लक्ष्य देश में उच्च मूल्य वाली वस्तुओं के निर्माण को बढ़ावा देना और निर्यात क्षेत्र में मूल्य वृद्धि करना है।”

रविशंकर प्रसाद ने कहा, “मोबाइल फोन और उसके पार्ट्स से जुड़े पीएलआई योजना के तहत 35,000 करोड़ रुपये का उत्पादन हुआ है। इससे 22,500 लोगों को नौकरियाँ मिलीं और 13,000 करोड़ रुपये का निवेश आया है। पीएलआई योजना से निर्यात को बढ़ावा मिलेगा और नई नौकरियों के भी अवसर बनते रहेंगे।”