समाचार
पीएलआई योजना के तहत स्मार्टफोन निर्माताओं ने किया 1300 करोड़ रुपये का निवेश

एक सकारात्मक विकास में स्मार्टफोन निर्माताओं ने बड़े पैमाने पर इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण के लिए केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी उत्पादन संबंधित प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना के तहत 1,300 करोड़ रुपये का निवेश किया। साथ ही दिसंबर 2020 तक योजना संचालन के पहले 5 महीनों में लगभग 35,000 करोड़ रुपये के उत्पादों का उत्पादन किया।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, इसके अतिरिक्त इस तिमाही में चिह्नित की गई कंपनियों ने करीब 22,000 रोजगार के अवसर भी पैदा किए।

1 अप्रैल 2020 को शुरू की गई योजना में चिह्नित की गई कंपनियों को आधार वर्ष के बाद अगले 5 वर्ष में बढ़ी हुई बिक्री पर 4 से 6 प्रतिशत का प्रोत्साहन दिया जाएगा। सरकार ने योजना के तहत 16 प्रस्तावों का चयन किया, जिसमें सैमसंग, फॉक्सकॉन होन हाई, राइजिंग स्टार, विस्ट्रोन और पेगाट्रोन शामिल हैं।

योजना के तहत जिन भारतीय कंपनियों का चयन किया गया, उनमें लावा, भगवती (माइक्रोमैक्स), यूटीएल, पैजेट इलेक्ट्रॉनिक्स और आप्टिमस इलेक्ट्रॉनिक्स शामिल हैं।

बता दें कि बीते दिनों सरकार ने अन्य क्षेत्रों में विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए पीएलआई योजनाओं की मेजबानी भी शुरू की। 3 मार्च को आईटी हार्डवेयर विनिर्माण के लिए योजना की घोषणा की गई थी। इसमें लैपटॉप, टैबलेट, सर्वर और ऑल-इन-वन पर्सनल कंप्यूटर जैसे उत्पाद शामिल होंगे।