समाचार
गूगल की ‘आवास योजना’ के तहत सुंदर पिचाई ने किया 20,000 घर बनाने का वादा

गूगल ने बे एरिया के आवास संकट को कम करने के लिए 1 अरब डॉलर की मदद की घोषणा की। लगभग 20,000 घरों को बनाने का वादा किया गया है। यह क्षेत्र में सामर्थ्य संकट और घरों को अभाव को दूर करने के लिए उठाया गया सबसे बड़ा कदम है।

कंपनी के सीईओ सुंदर पिचाई ने एक ब्लॉग पोस्ट में यह घोषणा की। उन्होंने लिखा, “जैसा कि हम गूगल को अधिक उपयोगी बनाने के लिए काम करते हैं। वैसे ही हम जानते हैं कि सहायता करने की हमारी ज़िम्मेदारी घर से ही शुरू होती है। इसका मतलब है कि वहाँ पर एक अच्छा पड़ोसी होना, जहाँ यह सब 20 साल पहले शुरू हुआ था यानी सैन फ्रांसिस्को का बे एरिया।

अगले 10 साल के लिए गूगल ने कहा, “हम अपनी भूमि में कम से कम 75 करोड़ डॉलर का पुनर्निमाण करेंगे। इसमें से अधिकांश वर्तमान में आवासीय, कार्यालय या वाणिज्यिक स्थान के लिए बनाए गए हैं। कंपनी का दावा है कि इससे वह खाड़ी क्षेत्र में सभी आय वालों के लिए 15,000 नए घर बना सकेगा। इनमें मध्यम और निम्न आय वर्ग वाले परिवार भी हैं।

गूगल 250 मिलियन डॉलर का निवेश कोष स्थापित करने की योजना बना रहा है। इसका मकसद डेवलपर्स को पूरे बाजार में 5,000 किफायती आवास बनाने के लिए प्रोत्साहित करना है। वहीं, google.org की योजना है कि वह बेघर और विस्थापन के मुद्दों पर केंद्रित गैर-लाभकारी संस्थाओं को 50 मिलियन डॉलर तक का अनुदान दे। कंपनी ने 5 वर्ष में बेघरों की मदद के लिए 18 मिलियन डॉल की मदद की है।

गूगल ने कहा, “कुछ महीनों में वह स्थानीय पालिकाओं के साथ काम जारी रखेगा, ताकि डेवलपर्स को जल्दी और आर्थिक रूप से निर्माण करने की अनुमति मिल सके। गूगल का उद्देश्य तुरंत आवास निर्माण शुरू करना और घरों को कुछ वर्षों में उपलब्ध करवाना है।”