समाचार
टिकटॉक के यूएस को बिकने से पहले चीनी सरकार ने बदले नियम, बाइटडांस को झटका

बाइटडांस को उम्मीद थी कि वह जल्द यूएस के आवेदकों के साथ टिकटॉक को लेकर सौदा पूरा कर लेगा। हालाँकि, चीनी सरकार द्वारा आर्टिफिशल इंटेलिजेंस टेक्नोलॉजी पर लगाए गए प्रतिबंधों के बाद उसे झटका लगा है।

वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट के अनुसार, चीन के वाणिज्य मंत्रालय ने शुक्रवार (29 अगस्त) को कहा, “जो एआई इंटरफेस प्रौद्योगिकियों जैसे कि भाषण, लिखी बातों की पहचान और निर्यात-नियंत्रण उत्पादों की संशोधित सूची में व्यक्तिगत सामग्री सिफारिशों को बनाने के लिए डाटा का विश्लेषण करते हैं। उनके विदेशों में बेचे जाने को लेकर सुरक्षित राष्ट्रीय आर्थिक सुरक्षा के तहत स्वीकृति लेने की ज़रूरत होगी।

अंतरराष्ट्रीय व्यापार और अर्थशास्त्र विश्वविद्यालय के प्रोफेसर कुई फैन ने चीनी सामाचार सिन्हुआ को बताया, “चूँकि नए प्रतिबंध में टिकटॉक की मूल कंपनी बाइटडांस को उन प्रौद्योगिकियों की सूची में चीन के नवीनतम संशोधन के तहत अनुमोदन प्रक्रियाओं का पालन करने की आवश्यकता होगी, जो प्रतिबंधों के अधीन हैं।”

कुई द्वारा दो नई चीजें कंप्यूटर सेवा उद्योग में सूचना प्रसंस्करण प्रौद्योगिकी की श्रेणी के तहत उद्धृत की गई थीं, जो टिकटॉक के सौदे में प्रासंगिक थे। बाइटडांस ने एक बयान में कहा, “कंपनी नए प्रतिबंधों से अवगत थी और प्रौद्योगिकी निर्यात पर चीनी नियमों का कड़ाई से अनुपालन करेगी।”

अगस्त की शुरुआत में ट्रंप प्रशासन ने अपने अमेरिकी ऑपरेशन्स को बेचने के लिए बाइटडांस को मध्य सितंबर तक का समय दिया था। माइक्रोसॉफ्ट कॉर्प और ओरेकल कॉर्प ने टिकटॉक के अमेरिकी व्यापार का अधिग्रहण करने के लिए बाइटडांस को बोलियाँ सौंपी दी हैं, जबकि सेंट्रिकस एसेट मैनेजमेंट लिमिटेड और ट्रिलर इंक भी शुक्रवार को अंतिम क्षणों में 20 अरब डॉलर में टिकटॉक के संचालन को खरीदने के लिए बोलियों में कूद पड़े थे।

बाइटडांस ने भी संघीय अदालत में अमेरिकी सरकार पर मुकदमा दायर कर कहा है कि यह उपयोगकर्ता के डाटा की सुरक्षा करता है।