समाचार
ब्रिटेन के न्यायालय ने भगोड़े कारोबारी नीरव मोदी को 11 मई तक न्यायिक हिरासत में भेजा

प्रत्यर्पण के आदेश को चुनौती देने वाले भारत के भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी को ब्रिटेन के न्यायालय ने मंगलवार (28 अप्रैल) को 11 मई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। उस दिन से उसके मामले की पाँच दिन वीडियो लिंक के जरिए सुनवाई होगी।

टाइम्स नाऊ हिंदी  की रिपोर्ट के अनुसार, 59 वर्षीय नीरव मोदी इस समय दक्षिण पश्चिम लंदन की एक जेल में है। उसे मंगलवार को वीडियो लिंक के जरिए जेल से न्यायालय के सामने पेश किया गया।

नीरव मोदी ने वेस्टमिनिस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में अपने नाम और जन्मतिथि की पुष्टि की। न्यायाधीश ने कहा कि कुछ जेलों के कैदियों को व्यक्तिगत रूप से पेश कराया जा रहा है। इस वजह से मैं वांड्सवर्थ जेल को निर्देश देता हूँ कि नीरव को सुनवाई के लिए 11 मई को पेश किया जाए। यदि व्यक्तिगत रूप से पेश किया जाना व्यवहारिक न हो तो सुनवाई में उसे वीडियो लिंक के जरिए शामिल कराया जाए।

नीरव मोदी को भारत को सौंपने की अर्जी से संबंधित मामले की सुनवाई पाँच दिन तक चलेगी। ब्रिटेन सरकार ने भारत की अर्जी पर कार्रवाई के लिए मंजूरी दे दी थी। यह मामला भारत की दो जाँच एजेंसियों केंद्रीय जाँच ब्यूरो और सतर्कता निदेशालय ने दायर किया है।