समाचार
“महाराष्ट्र में भाजपा ने बाला साहेब को दिया वचन तोड़ा इसलिए हुए अलग”- उद्धव ठाकरे

एनसीपी और कांग्रेस के साथ गठजोड़ कर सरकार बनाने जा रही शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकर ने विधायकों के साथ बैठक में भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा, “भाजपा ने बाला साहेब ठाकरे को दिया वचन तोड़ दिया है। हमने दोबारा चुनाव ना कराने पड़ें इसलिए एनसीपी-कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने का निर्णय किया है।”

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, सूत्रों की मानें तो शुक्रवार को एनसीपी और कांग्रेस की बैठक से पहले ही उद्धव ठाकरे ने विधायकों की बैठक बुलाई थी। इसमें उन्होंने भरोसा दिया कि आज रात तक सरकार बनाने को लेकर सबकुछ साफ हो जाएगा। इस दौरान विधायकों ने कहा, “उद्धव ही मुख्यमंत्री बनें।”

शिवसेना प्रमुख ने कहा, “हम नया संगठन बनाने जा रहे हैं। भाजपा ने हमसे झूठ बोला है। शिवसैनिक जानते हैं कि हमने 25 साल पुराना उनका साथ क्यों छोड़ दिया। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पर निर्णय सही वक्त पर लिया जाएगा।”

इस दौरान कांग्रेस नेता मानिकराव ठाकरे ने कहा, “यह लगभग तय हो गया कि महाराष्‍ट्र का अगला मुख्‍यमंत्री शिवसेना से होगा। एनसीपी ने कभी मुख्यमंत्री पद की मांग नहीं की थी। शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, “महाराष्‍ट्र में एनसीपी-कांग्रेस और शिवसेना की गठबंधन सरकार में पूरे 5 साल तक शिवसेना का ही मुख्‍यमंत्री होगा।”