समाचार
शिवसेना के नागरिकता संशोधन विधेयक को समर्थन देने से कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व नाराज़

कांग्रेस पार्टी का शीर्ष नेतृत्व कथित तौर पर लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक के पक्ष में मतदान करने पर शिवसेना से खासा नाखुश है।

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, कांग्रेस अब इस मुद्दे को लेकर शिवसेना नेतृत्व के पास पहुँच गई है।

इससे पहले यह बताया गया था कि पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने राज्यसभा में विधेयक का समर्थन करते हुए यू-टर्न लिया। उन्होंने कहा था कि उनकी पार्टी विधेयक का समर्थन तब तक नहीं करेगी, जब तक कि कुछ चीजें स्पष्ट नहीं कर दी जाती हैं। उन्होंने कहा, “यह धारणा बदलनी होगी कि विधेयक और भाजपा का विरोध करने वाले राष्ट्रद्रोही हैं।”

महाराष्ट्र में शिवसेना सरकार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस का समर्थन प्राप्त है। समर्थन देने वाले दोनों दल अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान के हिंदुओं, ईसाई, सिख, पारसी, बौद्ध और जैन सहित अल्पसंख्यकों को सताए जाने का अधिकार देने वाले विधेयक का पुरजोर विरोध कर रहे हैं।