समाचार
पाकिस्तानी ईश-निंदा कानून के आगे झुका ट्वीटर- इमाम ताहिदी सहित अन्य को नोटिस

ट्विटर ने इस्लाम में उग्रावद के आलोचक, कनाडा के स्तंभकार एंथोनी फरे, सऊदी-कैनेडियन कार्यकर्ता इंसाफ़ हैदर तथा इमाम मोहम्मद ताहिदी को नोटिस भेजा है, द न्यू इंडियन एक्सप्रेस  की रिपोर्ट में बताया गया।

फरे तथा अन्य दो आलोचक ट्विटर से नोटिस मिलने के बाद स्तब्ध रह गए क्योंकि उन तीनों का दक्षिण एशिया के इस्लामिक गणराज्य से कोई संबंध नहीं है। फरे ने कहा, “मैं चिंतित हूँ कि ट्विटर किसी भी देश को ऐसी शिकायत करने देगा इससे वो उस देश के बेतुके नियमों को मान्य कर रहा है।”

फरे, पैगम्बर मोहम्मद के बारे में अभद्र बात कहने में दोषी हैं, और इस हरकत के लिए पाकिस्तान में मृत्युदंड का प्रावधान है। वहीं, जेल में बंद सऊदी लेखक रइफ बदवी की पत्नि, इंसाफ़ हैदर को स्वधर्मत्याग के लिए नोटिस भेजा गया है। हैदर ने ट्वीट किया था जिसमें एक औरत ने बुर्का पहन रखा था और उस पर कैप्शन लिखा था, “यदि आप नक़ाब के विरोध में हैं, तो रिट्वीट करें”।

तीसरे आलोचक, इमाम ताहिदी को उस ट्वीट के लिए नोटिस भेजा जिसमें उन्होंने ऑस्ट्रेलियन पुलिस को मस्जिदों में उग्रवाद की जाँच करने की बात कह दी थी। उन पर नवंबर में, मेलबर्न में जानलेवा हमला भी हुआ था।

वर्ष 2010 में ईश निंदा संबंधित पोस्ट के कारण पाकिस्तान में फ़ेसबुक को दो हफ्तों के लिए बैन कर दिया गया था। वहीं वर्ष 2012 से लेकर 2016 तक यू ट्यूब भी एक फिल्म प्रसारित करने के कारण पाकिस्तान में बैन कर दिया गया था।