समाचार
मस्जिद निर्माण के लिए अयोध्या में तय हो रही ट्रस्ट की रूपरेखा, 5 मार्च को बैठक

अयोध्या के रौनाही में मस्जिद का निर्माण 5 एकड़ भूमि पर होगा, जिसकी देखरेख इंडो-इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन करेगा। सुन्नी वक्फ बोर्ड ने मस्जिद निर्माण के लिए ट्रस्ट की रूपरेखा तैयार कर ली है। ट्रस्ट के गठन का अंतिम फैसला करने के लिए 5 मार्च को बैठक बुलाई गई है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, बैठक के बाद ट्रस्ट का खुलासा हो सकता है। इस ज़मीन पर मस्जिद के अलावा चैरिटेबल अस्पताल, भारतीय व इस्लामिक सभ्यता के अध्ययन के लिए शोध केंद्र और पुस्तकालय बनाए जाएँगे।

रिपोर्टों की मानें तो ट्रस्ट का नाम इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन तय किया गया है। ट्रस्ट में अध्यक्ष समेत करीब 10 सदस्य रहेंगे। इनमें कानून के जानकार के अलावा सरकार का एक प्रतिनिधि भी होगा। कहा जा रहा है कि इसके अध्यक्ष पद पर बोर्ड के चेयरमैन जुफर फारूकी का नाम तय है।

ट्रस्ट में बोर्ड से बाहर के सामाजिक कार्यकर्ता और स्कॉलर को भी शामिल किया गया है। 5 एकड़ ज़मीन पर मस्जिद व अन्य संस्थान के निर्माण के लिए आर्थिक संसाधन की व्यवस्था करना ट्रस्ट की जिम्मेदारी होगी। कहा तो यह भी जा रहा है कि ट्रस्ट के गठन के बाद इसके विस्तार में देश की बड़ी सामाजिक हस्तियों के साथ ही उदार व्यापार जगत के लोगों को भी इसमें शामिल किया जाएगा।