समाचार
राज्य सभा के अनिश्चितकालीन स्थगन से पूर्व नहीं पारित हो पाए ये प्रमुख विधेयक

नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2019 और मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधेयक, 2018 पारित होने से चूक गया क्योंकि राज्य सभा बुधवार (13 फरवरी) को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई।

दोनों विधेयक लोकसभा में पारित हो चुके हैं लेकिन 13 फरवरी तक पारित न होने की स्थिति में वे कालातीत हो जाएँगे क्योंकि आज 16वीं लोकसभा का अंतिम सत्र था, मनी कंट्रोल  ने बताया।

राज्स सभा में नियंत्रक एवं महालेखाकार परीक्षक (कैग) रिपोर्ट भी प्रस्तुत की गई थी लेकिन स्थगित होने के कारण इसपर चर्चा नहीं हो पाई। सत्र को राष्ट्रपति के संबोधन पर धन्यवाद-प्रस्ताव के साथ स्थगित कर दिया गया व अंतरिम बजट व वित्तीय विधेयक पर भी चर्चा नहीं हो पाई।

इंडियन एक्सप्रेस  के अनुसार राज्य सभा के अधियक्ष व उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने इस सत्र के अनुत्पादक होने पर व्याकुलता व्यक्त की। इसके साथ लोकसभा में यौन दुराचार से बच्चों को बचाने के लिए संशोधित अधिनियम, 2019, केंद्रीय विश्वविद्यालय (संशोधन) अधिनियम, 2018 व अनियमित जमा योजनाओं पर प्रतिबंध विधेयक, 2018 पर चर्चा शेष है।