समाचार
कोलकाता- बिरयानी बाँटने को लेकर तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों ने की बमबारी

दक्षिण-पश्चिम कोलकाता के मुस्लिम बहुल गार्डन रिच क्षेत्र में रविवार रात सड़क पर दो गुटों में भिड़ंत हो गई, जिसमें बम भी चले।

वॉर्ड-135 के गरीब और फुटपाथ पर रहने वालों को बिरयानी बांटी गई। इसी को लेकर कोलकाता नगर निगम (केएमसी) के दो वार्डों के पार्षदों के गुटों में झगड़ा हो गया।

वॉर्ड 135 के पार्षद अख्तर निजामी शहज़ादा ने एबीपी आनंद टीवी चैनल को बताया, “शम्स इकबाल की बहन सबा इकबाल (पार्षद वॉर्ड नंबर 134 ) ने अपने वॉर्ड के आसपास (वॉर्ड नंबर 135) के क्षेत्रों में शुक्रवार शाम को बिरयानी के पैकेट बाँटे।

वॉर्ड 135 के शहज़ादा के तृणमूल समर्थकों ने सबा इकबाल को रोका। इस पर सबा ने आपत्ति जताई कि वह गरीबों को बिरयानी के पैकेट इसलिए दे रहीं क्योंकि शहज़ादा ने बंद के दौरान उनके लिए कुछ नहीं किया। इस पर शहज़ादा और सबा इकबाल के समर्थकों के बीच बहस छिड़ गई। हालाँकि, कुछ बुजुर्गों के हस्तक्षेप के बाद स्थिति नियंत्रित हो गई।

इसके बाद शहज़ादा के समर्थकों ने वार्ड 135 के गरीबों और वार्ड 134 से सटे कुछ हिस्सों में शनिवार शाम को बिरयानी बाँट दी। इस पर शम्स इकबाल के गुट ने अफवाह फैला दी कि बाँटी गई बिरयानी गैर-हलाला मांस से बनी थी।

इस वजह से रविवार सुबह दोनों गुटों के बीच तनाव बढ़ गया और उसी दिन रात को सड़क पर उनके बीच भिड़ंत हो गई। शहज़ादा ने आरोप लगाया कि उनके कार्यालय और आवास में तोड़फोड़ की गई और उनके कुछ समर्थक घायल हो गए।

शम्स इकबाल मुन्ना इकबाल का बेटा है, जो फरवरी 2013 में गार्डन रिच क्षेत्र में एक पुलिस अधिकारी की हत्या का कथित मास्टरमाइंड है। इकबाल ने पिछले महीने के शुरू में काफी सुर्खियाँ बंटोरी थीं। वह एस्टोन मार्टिन रैपिड कार लेकर केएमसी मुख्यालय पहुँचे थे, जिसकी कीमत करीब 3.88 करोड़ है। (देखें)