समाचार
कॉक्स एंड किंग्स की 21,000 करोड़ रुपये की धांधली के तार येस बैंक से जुड़े मिले

बैंकिग सेक्टर की कमर तोड़ने वाले अशोधित ऋणों की श्रेणी में कॉक्स एंड किंग्स की धांधली भी जुड़ गई है। ट्रैवल कंपनी कॉक्स एंड किंग्स के 21,000 करोड़ रुपये के गलत उपयोग के फर्जीवाड़े में 2,267 करोड़ रुपये येस बैंक से भी लिए गए थे।

बिज़नेस टुडे  की रिपोर्ट के अनुसार, येस बैंक की ओर से हुई जाँच में कंपनी के रिकॉर्ड गलत पाए गए हैं। इसमें 1,100 करोड़ रुपये का ऋण एक भाई ने अपने दूसरे भाई को दे दिया, जो नियमों के विरुद्ध है। यह 1,100 करोड़ रुपये आलोक इंडस्ट्रीज़ को दिए गए जबकि उनके बीच किसी तरह का कोई व्यापार नहीं हुआ।

कंपनी में इस तरह की कई और धांधलियाँ भी सामने आई हैं। कंपनी ने 160 नकली ग्रहकों को 9,000 करोड़ रुपये की फर्जी बिक्री की। इस ट्रैवल कंपनी ने बैंक और अन्य वित्तीय संस्थानों से 5,500 करोड़ रुपये का ऋण लिया। फॉरेंसिक ऑडिट में पता चला कि कंपनी में अधिकतर पैसों का लेन-देन बिना बोर्ड की मंजूरी और ऋण के एग्रीमेंट के बिना हुआ।

राणा कपूर के नेतृत्व में येस बैंक से ऋण लेने वाली प्रमुख कंपनियों में कॉक्स एंड किंग्स का भी नाम था। कपूर के मामले में पूछताछ के लिए पिछले माह कंपनी के नियंत्रक अजय अजीत पीटर केरकर को भी बुलाया गया था।

ट्रैवल कंपनी ने 2019 में ही 589 करोड़ रुपये बिना ऋण एग्रीमेंट के 11 सहयोगी कंपनियों को दिए। वित्तीय वर्ष 2019 में कंपनी ने अपने ऊपर 2,000 करोड़ रुपये का ऋण दर्शाया और कंपनी पर स्टैंडअलोन कर्ज़ 3,600 करोड़ रुपये था।