समाचार
पारदर्शी कर प्रणाली का लोकार्पण “करदाताओं को सम्मानित” करने के लिए- नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (13 अगस्त) को पारदर्शी कर- सत्यनिष्ठ का सम्मान (ट्रांसपैरेंट टैक्स- ऑनरिंग दि ऑनेस्ट) प्रणाली का लोकार्पण किया। इस प्रणाली के अंतर्गत फेसलेस आकलन, फेसलेस अपील और करदाताओं का चार्टर आएँगे।

प्रधानमंत्री ने बताया कि फेसलेस आकलन और करदाता चार्टर आज से ही लागू हो गए हैं, जबकि फेसलेस अपील 25 सितंबर से शुरू होगी। उन्होंने ये कदम करदाता में विश्वास भरने और उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए उठाया है।

इस अवसर पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर भी वीडियो सम्मेलन के माध्यम से जुड़े थे। सीतारमण ने कहा कि प्रधानमंत्री के विचार को पूरा करने के लिए सीबीडीटी ने एक संरचना तैयार की है और इस प्रणाली को क्रियाशील किया।

“फिछले छह वर्षों में हमारा ध्यान जिसके पास खाता न हो उसे बैंक से जोड़ना, जो असुरक्षित हो उसे सुरक्षित करना और जिसके पास कमी हो उसे वित्तपोषित करना रहा है। आज एक तरह से एक नई यात्रा की शुरुआत हो रही है।”, प्रधानमंत्री मोदी।