समाचार
टॉप 100 ग्लोबल ब्रांड्स में शीर्ष पर अमेज़ॉन, तीन भारतीय कंपनियाँ भी सूची में शामिल

अमेज़ॉन दुनिया का सबसे बहुमूल्य ब्रांड बन गया है। उसने दिग्गज कंपनियों एप्पल और गूगल को पछाड़ दिया है। यह खुलासा न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में डब्ल्यूपीपी और कंतर द्वारा जारी किए गए शीर्ष 100 सबसे मूल्यवान ग्लोबल ब्रैंड्स रैंकिंग में हुआ है।

सर्वे में बताया गया है कि अमेज़ॉन का ब्रैंड मूल्य 53 प्रतिशत चढ़कर 315 अरब डॉलर हो गया है। उसने तीसरे से पहले स्थान पर छलाँग लगाई है। वहीं, गूगल अब पहले से तीसरे स्थान पर आ गया। उसकी ब्रांड वैल्यू 30,900 करोड़ डॉलर यानी 21.46 लाख करोड़ रुपये है। वहीं, एप्पल दूसरे पायदान पर टिका हुआ है।

इस सूची में तीन भारतीय कंपनियों को भी दिखाया गया है। इनमें एचडीएफसी 22.70 बिलियन डॉलर के साथ 60वें नंबर पर, एलआईसी 20.31 बिलियन डॉलर के साथ 68वें नंबर पर और टीसीएस 14.28 बिलियन डॉलर के साथ 97वें नंबर पर हैं।

इस सर्वे में 37 लाख लोगों से बात की गई और 5.2 अरब डेटा बिंदु शामिल हैं। इसके लिए 51 बाज़ारों में 166,000 से अधिक ब्रांडों का सर्वेक्षण किया गया है। सूची में फेसबुक सातवें नंबर पर है। वहीं दूसरे सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स में इंस्टाग्राम 28.2 बिलियन डॉलर के साथ 44वें नंबर पर है। नेटफ्लिक्स इसमें 34.3 बिलियन डॉलर के साथ 34वें और ऊबर 53वें स्थान पर है। इस सूची में शियोमी भी शामिल है, जो 74वें नंबर पर है।