समाचार
कुलगाम मुठभेड़ में तीन जैश आतंकियों को मार गिराने में दो जवानों का बलिदान

दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में रविवार (24 फरवरी) को सुरक्षा बलों ने जैशमोहम्मद (जेम) के तीन आतंकवादियों को मार गिराया, टाइम्स ऑफ इंडिया  ने बताया।

कुलगाम के तुरीगाम इलाके में हुई मुठभेड़ के दौरान सेना के एक जवान और एक सहायक पुलिस अधीक्षक (डीएसपी) वीरगति को प्राप्त हो गए।

पुलिस को एक क्षेत्र में एक आवासीय घर में छिपे आतंकवादियों के बारे में खुफिया सूचना मिलने के बाद यह मुठभेड़ हुई, रिपोर्ट में अधिकारियों ने बताया। आतंकवादियों ने पुलिस के पास पहुँचने पर गोलीबारी की जिसके कारण जम्मूकश्मीर पुलिस के डीएसपी अमन ठाकुर की गर्दन पर काफी चोटें आईं। सेना अस्पताल ले जाते समय ठाकुर ने दम तोड़ दिया।

रिपोर्ट के अनुसार मुठभेड़ के दौरान एक आर्मी मेजर सहित दो जवान भी घायल हो गए। इसके बाद सैनिकों में से एक हवलदार सोमबीर भी वीरगति को प्राप्त हो गए।

आर्मी मेजर और अन्य घायल सैनिक खतरे से बाहर हैं। मुठभेड़ में तीन आतंकवादी भी मारे गए थे। हालाँकि, उनकी पहचान अभी तक नहीं हो पाई है।

शहीद डीएसपी अमन ठाकुर जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले के निवासी थे। वह 2011 बैच के जेके पुलिस सेवा अधिकारी थे और दो साल पहले कुलगाम में डीएसपी (ऑपरेशन) के रूप में तैनात थे। वह जेम आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में पुलिस टीम का नेतृत्व कर रहा था।

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने रिपोर्ट में कहा, “यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है जिसमें हम एक बहादुर अधिकारी को खो चुके हैं। वह एक लड़ाकू थे और उन्होंने रविवार को खुद ऑपरेशन का नेतृत्व किया।”