समाचार
सीतारमण ने विश्व बैंक को बताई कोरोना रणनीति, बोलीं- “देश में नहीं लगेगा लॉकडाउन”

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने विश्व बैंक समूह के अध्यक्ष डेविड मालपास के साथ एक वर्चुअल बैठक में साफ तौर पर कह दिया कि सरकार बड़े पैमाने पर लॉकडाउन नहीं लगाने जा रही है। साथ ही केवल स्थानीय कंटेनमेंट के माध्यम से ही संक्रमण से निपटने की योजना बनाई जाएगी।

इकोनॉमिक टाइम्स में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, वित्त मंत्री ने महामारी की दूसरी लहर के प्रसार को रोकने के लिए भारत द्वारा अपनाए जा रहे उपायों को साझा किया, जिसमें परीक्षण, संक्रमण का पता लगाना, उपचार, टीकाकरण और उचित कोविड-19 व्यवहार के पाँच स्तंभों वाली योजनाएँ शामिल हैं।

उन्होंने डेविड मालपास को बताया, “दूसरी लहर के साथ पूरी तरह स्पष्ट है कि हम बड़े पैमाने पर लॉकडाउन का निर्णय नहीं ले रहे हैं। हम अर्थव्यवस्था को पूरी तरह अवरुद्ध नहीं करना चाहते हैं। मरीजों का स्थानीय स्तर पर आइसोलेशन या घरों में लोगों को क्वारंटीन करने के तरीके हैं, जिनके जरिये संकट को संभाला जा सकता है। दूसरी लहर को संभाल लिया जाएगा, लॉकडाउन नहीं किया जाएगा।”

सीतारमण ने भारत के विकास और इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए धन की उपलब्धता बढ़ाने और ऋण देने की गुंजाइस में वृद्धि करने वाली पहली की सराहना की।

वित्त मंत्री ने हरित, मजबूत और समावेशी विकास हासिल करने के लिए भारत सरकार द्वारा उठाए गए कदमों जैसे कि एलईडी बल्बों का वितरण, राष्ट्रीय जैव-ईंधन नीति के तहत इथेनॉल सम्मिश्रण कार्यक्रम, स्वैच्छिक वाहन कबाड़ नीति और इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहित करने जैसे कदमों की भी जानकारी दी।