समाचार
इसरो प्रमुख रो पड़े तो प्रधानमंत्री मोदी ने लगा लिया गले, कहा- ‘देश को है आप पर गर्व’

कई साल की मेहनत के बाद सफलता के अंतिम छड़ों में चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर का नियंत्रण कक्ष से संपर्क टूट गया। ऐसे में निराश हो गए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिकों का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मनोबल बढ़ाया। वहीं, प्रधानमंत्री के बाहर निकलने पर इसरो प्रमुख के सिवन उनके सामने फूट-फूटकर रो पड़े, जिस पर मोदी ने उन्हें गले लगाकर सांत्वना दी।

इसरो के वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। यह कोई छोटी उपलब्धि नहीं है। हम अच्छे की आशा करते हैं। पूरे देश को आप पर गर्व है। मैं आपको आपकी सेवा के लिए बधाई देता हूँ। मैं आपका पूरा समर्थन कर रहा हूँ। मुझे विश्वास है कि आप दोबारा इसे कर दिखाएँगे।”

इसके बाद जैसे ही नरेंद्र मोदी बाहर निकले के सिवन उनके सामने भावुक होकर फूट-फूटकर रोने लगे। इस पर प्रधानमंत्री मोदी ने उन्हें गले लगाकर हिम्मत दी। उन्होंने सिवन की पीठ थपथपाई और उन्हें फिर से गले लगा लिया। वह सिवन को करीब 30 सेकेंड तक गले लगाकर सांत्वना देते रहे।

प्रधानमंत्री ने इसरो प्रमुख के सिवन सहित शीर्ष अधिकारियों को भी सांत्वना दी और उनसे साहसी होने का आग्रह किया। चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर का संपर्क टूटने के बाद इसरो प्रमुख के सिवन ने इसकी जानकारी नरेंद्र मोदी को दी, जो बेंगलुरु में नियंत्रण केंद्र में मौजूद थे।

इसरो प्रमुख ने एक आधिकारिक घोषणा भी की, “पृथ्वी की सतह से लगभग 2.1 किमी ऊपर तक प्रदर्शन सामान्य था। इसके बाद संचार खो गया था। उन्होंने कहा, “इसरो अब सभी उड़ान डेटा का विश्लेषण करेगा।”