समाचार
“चीनी सैनिकों की एलएसी पार कर घुसपैठ की कोशिश, हवा में की गोलाबारी”- भारत

एलएसी पर पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में चीन ने सोमवार (7 सितंबर) देर रात घुसपैठ का प्रयास किया। सेना ने बताया कि पीएलए सैनिकों ने सीमा पार करते हुए भारतीय चौकियों के करीब आना शुरू किया। इसके बाद अपने ही जवानों को वापस करने के लिए उन्होंने हवा में गोलीबारी की। इस दौरान भारत ने संयम बरतते हुए किसी तरह की कार्रवाई नहीं की। हालाँकि, चीन उल्टा भारत पर कार्रवाई का आरोप लगा रहा है।

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय सेना की ओर से जारी आधिकारिक बयान में चीन द्वारा लगाए गए सारे आरोपों को निराधार बताया गया है। कहा गया है कि चीन बार-बार उकसावे की कार्रवाई कर नियमों का उल्लंघन कर रहा है। चीनी सेना गलत दावे कर दुनिया को बर्गलाने की कोशिश कर रही है। वे तीन दिन से भारतीय चौकियों के करीब आने की कोशिश कर रहे थे। भारतीय सेना ने न एलएसी पार की, न ही गोलीबारी की है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स का दावा है कि ताजा झड़प लद्दाख के पैंगोग सो लेक के दक्षिणी छोर पर स्थित एक पहाड़ी पर हुई है। आरोप है कि भारतीय सेना ने गैर-कानूनी तरीके से एलएसी पार की और पहले गोली चलाई। जवाब में चीनी सेना को जबरन गोलीबारी करनी पड़ी। चीनी सेना के वेस्टर्न थिएटर कमांड के प्रवक्ता के हवाले से यह दावा किया गया है।

वहीं, तनाव के बीच विदेश मंत्री एस जयशंकर मंगलवार को चार दिवसीय रूस यात्रा पर रवाना हो रहे हैं। वह शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गेनाइजेशन (एससीओ) की बैठक में हिस्सा लेंगे। जयशंकर और चीनी विदेश मंत्री याग यी के बीच मॉस्को में बातचीत होने वाली है। शुक्रवार (4 सितंबर) को ही सीमा को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और चीनी रक्षा मंत्री वेई फेंग के बीच मॉस्को में बातचीत हुई थी।