समाचार
नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध में पूर्वोत्तर में तनाव, 12 घंटे बंद का आह्वान

लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पास होने के साथ ही पूर्वोत्तर के कई हिस्सों में तनाव की खबरें बढ़ गई हैं। गुवाहाटी में मंगलवार को 12 घंटे बंद के साथ सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा और सभी दुकानें बंद रहीं।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, नॉर्थ ईस्ट स्टूडेंट्स ऑर्गनाइजेशन और ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन की ओर से मंगलवार को गुवाहाटी में 12 घंटे के बंद का आह्वान किया गया है। असम के अलग-अलग क्षेत्रों में प्रदर्शन देखने को मिले। ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन ने डिब्रूगढ़ में नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ उग्र प्रदर्शन किया। वहाँ पर स्टूडेंट्स यूनियन के सदस्यों ने टायरों को आग के हवाले कर दिया।

त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में भी नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। भारी संख्या में आंदोलनकारियों को देखते हुए वहाँ पुलिस बल मुस्तैद किया गया है। कांग्रेस के साथ कई राजनीतिक दल भी इस बिल में मुस्लिम शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता नहीं दिए जाने के प्रावधान का जबरदस्त विरोध कर रहे हैं।

असम के धुबरी से लोकसभा एमपी बदरुद्दीन अजमल ने कहा, “नागरिकता संशोधन विधेयक हिंदू-मुस्लिम एकता के खिलाफ है। हम इस विधेयक को खारिज करते हैं। इस मुद्दे पर विपक्ष हमारे साथ है। हम इस विधेयक को पास नहीं होने देंगे।”