समाचार
पायथन-5 मिसाइल से लैस हुआ स्वदेशी तेजस, बियॉन्ड विज़ुअल रेंज में भेद सकता है लक्ष्य

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने बुधवार (28 अप्रैल) को कहा कि भारत के स्वदेशी लड़ाकू विमान लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट तेजस ने अपने हथियारों के जत्थे में पाँचवीं पीढ़ी की पायथन-5 हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल को शामिल किया है।

भारत के स्वदेशी लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट तेजस ने मंगलवार अपनी हथियार क्षमता में 5वीं पीढ़ी के पायथन-5 हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल (एएएम) को शामिल किया। डीआरडीओ के अनुसार, परीक्षण में डर्बी बियॉन्ड विज़ुअल रेंज की हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल की फायर करने की क्षमता को भी सत्यापित किया गया।

पायथन-5 और डर्बी मिसाइलों को इज़रायल की रक्षा कंपनी राफेल एडवांस्ड डिफेंस सिस्टम्स द्वारा विकसित किया गया है। पायथन-5 मिसाइल के निर्माता का कहना है, “इसे बहुत कम बियॉन्ड विज़ुअल रेंज के साथ लक्ष्य को भेदने की अधिक संभावना के साथ लॉन्च किया जा सकता है।

राफेल की आधुनिक रक्षा प्रणाली को बनाने वालों का कहना है, “पाँचवीं पीढ़ी की मिसाइल अपने लक्ष्य की छवि को खोजने की क्षमता के साथ आती है। यह लॉक-ऑन-लॉन्च, उत्कृष्ट अधिग्रहण और लक्ष्यीकरण क्षमताओं के साथ पूर्ण क्षेत्र लॉन्च क्षमता प्रदान करती है।”