समाचार
तरुण तेजपाल आठ वर्ष बाद दुष्कर्म के आरोपों से बरी, गोवा सरकार देगी निर्णय को चुनौती

तहलका पत्रिका के संपादक तरुण तेजपाल को आठ वर्ष बाद शुक्रवार (21 मई) को गोवा के सत्र न्यायालय ने दुष्कर्म के आरोपों से बरी कर दिया है। अब गोवा सरकार का कहना है कि वह इस निर्णय को चुनौती देगी।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, तरुण तेजपाल पर एक होटल की लिफ्ट में अपनी महिला सहयोगी के साथ यौन प्रताड़ना का आरोप लगा था। गोवा पुलिस ने नवंबर 2013 में उनके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की थी। इसके बाद से वह 2014 से जमानत पर बाहर थे।

गोवा की अपराध शाखा ने उनके विरुद्ध आरोप-पत्र दाखिल किया था। 29 सितंबर 2017 को न्यायालय ने उन पर विभिन्न धाराओं के तहत आरोप लगाए थे। इनमें दुष्कर्म, यौन उत्पीड़न और जबरन बंधक बनाना शामिल है। आरोप तय होने के बाद तेजपाल ने उच्चतम न्यायालय का रुख किया था।

अगस्त में सर्वोच्च न्यायालय ने आरोपों को रद्द करने से मना कर दिया था और मामले को छह महीने के अंदर समाप्त करने का निर्देश दिया था।