समाचार
वैट की तुलना में जीएसटी के तहत कर भुगतान में 15 प्रतिशत की हुई वृद्धि

एनडीए सरकार के कार्यकाल के दौरान अधिक पंजीकृत कर फाइलर होने के बावजूद वस्तु एवं सेवा कर के कर अनुपालन में पिछले साल की कर व्यवस्था की तुलना में 15 प्रतिशत अधिक है।

वास्तु एवं सेवा कर नेटवर्क के सीईओ प्रकाश कुमार ने बिज़नेस लाइन्स के साथ एक इंटरव्यू के दौरान बताया “वैट एवं सर्विस कर अनुपालन की तुलना में वस्तु एवं सेवा कर अनुपालन 15 प्रतिशत ज़्यादा बेहतर है।” साथ ही यह भी कहा कि 100 प्रतिशत फाइलिंग विश्व भर में कही भी मुमकिन नहीं है।

प्रकाश कुमार ने बताया कि हाल ही में इसने एक करोड़ कर दखिलकर्ताओं को पीछे छोड़ा है। प्रतिदिन एक से 1.5 लाख नए करदाता जुड़ रहे हैं। उन्होंने बताया कि हर महीने 28 से 30 करोड़ इनवॉइस सिस्टम पर अपलोड होते हैं।

जनवरी में जीएसटी के तहत संग्रह ने एक लाख करोड़ की सीमा को पार कर दिया था। जबसे अप्रत्यक्ष कर शासन शुरू हुआ है तब से ऐसा तीसरी बार हुआ है जब अप्रत्यक्ष कर को एक लाख करोड़ से ज़्यादा जुटाया गया है। वित्त मंत्रालय ने बताया कि जीएसटी परिषद् द्वारा कर के बोझ को कम करने के बावजूद भी कर भुगतान में वृद्धि हांसिल हुई है।