समाचार
टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ₹861.90 करोड़ में करेगी देश के नए संसद भवन का निर्माण

नए संसद भवन के निर्माण के लिए बोलियाँ लगाने को केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ने आमंत्रित किया था, जिसमें टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने बुधवार (16 सितंबर) को बाजी मार ली। अब वह 861.90 करोड़ रुपये में नए संसद भवन का निर्माण करेगी।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, बोलियाँ लगाने के लिए टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने 861.90 करोड़ रुपये, जबकि लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड ने 865 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी।

बोली आमंत्रित करने वाली नोटिस में कहा गया था कि ट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के तहत मौजूदा संसद भवन के पास नई इमारत का निर्माण होगा। इसके 21 महीने में पूरा होने का अनुमान है। केंद्र की प्रमुख निर्माण एजेंसी सीपीडब्ल्यूडी ने कहा था कि नई इमारत का निर्माण पार्लियामेंट हाउस एस्टेट की भूखंड संख्या 118 पर कराया जाएगा।

कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि नए भवन में सांसदों के बैठने के लिए 900 सीटें होंगी, जबकि संयुक्त सत्र में 1350 सांसदों के बैठने की व्यवस्था होगी। 2022 के जुलाई में होने वाला मानसून सत्र नई संसद में आयोजित करने की तैयारी है।

बता दें कि निर्माण के लिए सात कंपनियों ने पात्रता पूर्व बोलियाँ जमा की थीं। इनमें टाटा प्रोजेक्ट लिमिटेड, लार्सन एंड टूब्रो लिमिटेड, आईटीडी सीमेंटेशन इंडिया लिमिटेड, एनसीसी लिमिटेड, शपूरजी पलोनजी एंड कंपनी प्राइवेट लिमिटेड, उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम लि. और पीएसपी प्रोजेक्ट्स लि. शामिल थीं।