समाचार
फसलों को बीमारी से बचाएँगे रोबोट, स्टार्ट-अप कंपनी में 15 करोड़ रुपये का निवेश

बेंगलुरु की एक स्टार्ट-अप कंपनी टार्टन सेंस छोटे और मझोले खेतों के लिए रोबोट तैयार करने की तैयारी में है। कंपनी के अनुसार पहले चरण में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से बने यह रोबोट खेतों में दवाओं को छिड़कने का काम करेंगे और साथ ही किसानों को जंगली घास और बीमारी लगे हुए पौधों के बारे में भी जानकारी देंगे।

यह रोबोट सीमित मात्रा में और पूरी सटीकता के साथ पौधों पर रसायनों का छिड़काव करेंगे जिससे कि लागत में बचत हो सके, इकनोमिक टाइम्स  ने रिपोर्ट किया। कंपनी इन रोबोटों को किसानों तक पहुँचाने के लिए बाज़ार के स्थानीय व्यपारियों की सहायता लेगी।

ओमनीवोर पार्टनर्स, ब्लुमे वेंचर्स और बीनेक्स्ट जैसी कंपनीयों से 15 करोड़ रुपये का निवेश टार्टन सेंस में किया है। अगले चरण के लिए  एलोन मस्क, जेएफ बेज़ोस, ग्रे ऑरेंज के उप-संस्थापक आकाश गुप्ता और फैदरलाइट के कुश जवाहर निवेशकों की सूची में सबसे ऊपर हैं।

टार्टन सेंस के संस्थापक जयसिम्हा राव ने बताया कि कंपनी रोबोटों को फसलों की समय पर और सही तरीके से कटाई करने के लिए तैयार करेगी।