समाचार
तमिलनाडु- मोदी और शाह को धमकी देने वाला इस्लामिक समूह का अध्यक्ष गिरफ्तार

तमिलनाडु के पेरम्बलुर जिले में मंगलामेडु पुलिस ने बुधवार को इस्लामिक समूह तमिलनाडु मुस्लिम मुनेत्र कड़गम (टीएमएमके) के मुख्यालय अध्यक्ष को गिरफ्तार कर लिया। उन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को जान से मारने की धमकी देने का आरोप है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, त्रिची के मारसिंगपेट के रहने वाले 24 वर्षीय आरोपी एम मोहम्मद शरीफ को पुलिस ने मंत्रियों की हत्या की धमकी देने, शांति भंग करने और आपराधिक धमकी देने के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार किया।

यह कार्रवाई तब की गई, जब पेरामबलुर के लैब्बाकुडीकाडु में पार्टी की सड़क पर हुई बैठक के दौरान शरीफ के उकसाऊ भाषण का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। उन्होंने बीती रविवार को टीएमएमके के विरोध प्रदर्शन के दौरान ट्रिपल तालक बिल, आर्टिकल 370 और 35ए को खत्म करने और गैरकानूनी गतिविधियों (रोकथाम) अधिनियम में संशोधन के खिलाफ भाषण दिया था।

वीडियो में आरोपी यह कहते हुए सुना जा सकता है, “अगर हम केवल मुसलमानों के बारे में सोचते तो अमित शाह और नरेंद्र मोदी इस समय जीवित न होते और संसद, संसद नहीं रहती लेकिन हमने ऐसा नहीं किया। ऐसा इसलिए किया क्योंकि हम भारत के कानूनों, लोकतंत्र और संविधान का सम्मान करते हैं।”

टीएमएमके और उसके सहयोगी इस्लामिक संगठनों ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ तमिलनाडु के विभिन्न हिस्सों में प्रदर्शन किए हैं। विरोध प्रदर्शन को डीएमके, सीपीएम, सीपीआई और वीसीके जैसे राजनीतिक दलों और ईसाई सद्भावना आंदोलन का समर्थन मिला है।

उधर, टीएमएमके के अध्यक्ष एमएच जवाहिरउल्लाह ने शरीफ के कथनों की निंदा की है। उन्होंने कहा, “शरीफ को टीएमएमके के सिद्धांतों का उल्लंघन करने के लिए मुख्यालय अध्यक्ष के पद से हटा दिया गया है।” भाजपा की राज्य इकाई पहले ही पुलिस में टीएमएमके कार्यकारिणी के खिलाफ अभद्र भाषा की शिकायत दर्ज करवा चुकी थी।