समाचार
मरकज़ प्रमुख साद के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज, हो सकती है गिरफ्तारी

निज़ामुद्दीन मर्कज़ के प्रमुख मौलाना मोहम्मद साद कंधालवी के खिलाफ पुलिस ने दिल्ली में तबलीगी जमात की धार्मिक सभा आयोजित करने को लेकर गैरइरादतन हत्या का मामला दर्ज किया है। इसके बाद उनकी कभी भी गिरफ्तारी हो सकती है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली पुलिस मोहम्मद साद से पहले एक बयान लेना चाहती है, जिसके बाद वो यह तय कर सके कि उन्हें गिरफ्तार किया जाए या नहीं।

धार्मिक सभा में शरीक होकर तबलीगी जमात द्वारा देश में कोरोनावायरस के मामले बढ़ाए जाने की घटना के बाद से मौलाना साद गायब हैं। अधिकारियों को उन्होंने यह बताया था कि वह खुद को घर में कैद करने जा रहे हैं। हालाँकि, खुद को आइसोलेशन करने की उनकी अवधि अब समाप्त हो चुकी है।

कहा जा रहा था कि वह दिल्ली के बाहरी इलाके में अपने किसी सहयोगी के घर में छिपे हुए थे। उन्हें पुलिस की ओर से कई नोटिस भी जारी किए गए, जिनमें उनसे और अन्य नेताओं के खिलाफ जाँच से संबंधित सवाल पूछे गए थे।

मौलाना साद पर विवादास्पद भाषण देने का भी आरोप लगा है। उन्होंने अपने अनुयायियों से कहा था कि चाहे कुछ भी हो जाए, मस्जिदों में एकत्रित होते रहो। उन्होंने मुसलमानों से लॉकडाउन के आदेशों को ना मानने के लिए कहा था। साद ने यह भी कहा था कि केवल काफिर भौतिक उपचार और संसाधनों पर भरोसा करते हैं।