समाचार
टी-90 भीष्म टैंक भारत ने गलवान, चुशुल सेक्टर में किए तैनात, शीर्ष स्तर पर वार्ता जारी

पूर्वी लद्दाख में चल रहे चीन से गतिरोध और उसकी नापाक हरकतों को देखने के बाद भारत ने सीमा पर टी-90 भीष्म टैंकों को तैनात कर कर दिया है। वहीं, मंगलवार (30 जून) को चुशुल में दोनों देशों के बीच तनाव कम करने के लिए शीर्ष सैन्य कमांडर स्तर की एक बार फिर से वार्ता होने जा रही है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, चीन लगातार धोखेबाजी कर रहा है। उसने कई जगह निर्माण कार्य किया हुआ है। इसी को देखते हुए भारत ने गलवान सेक्टर में छह टी-90 टैंकों को तैनात किया है।

भारतीय सेना वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के अपने हिस्से में प्रमुख ऊँचाइयों वाले स्थान पर हथियारों को तैनात कर रही है। भारत ने चुशुल सेक्टर में भी दो टैंकों की तैनाती की है। 155 एमएम हॉवित्जर के साथ इन्फैंट्री लड़ाकू वाहनों को पूर्वी लद्दाख में 1597 किमी लंबी एलएसी के साथ तैनात कर दिया है।

सैन्य कमांडरों की मानें तो भारत सीमा विवाद पर लंबी चलने वाली इस गतिरोध के लिए पूरी तरह से तैयार है। उधर, सैन्य कमांडरों और सैनिकों का मनोबल इन दिनों भारतीय वायु सेना और भारतीय नौसेना दोनों के साथ बहुत अधिक है, जो उच्चतम स्तर की सतर्कता में तैनात हैं।