समाचार
अलगाववादी सैयद अली गिलानी ने किया कश्मीरी पंडितों के लिए कॉलोनियों का विरोध

कश्मीरी अलगाववादी नेता सैयद अली गिलानी ने मंगलवार को विस्थापित कश्मीरी पंडितों की वापसी के लिए अलग कॉलोनियाँ बनाने के विचार को खारिज कर दिया।

हिंदुस्तान टाइम्स  को दिए एक साक्षात्कार में जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कश्मीरी पंडितों के लिए अलग टाउनशिप बनाने की अवधारणा को सही ठहराया। उन्होंने कहा, “ऐसे इलाके के लिए जगह की पहचान कर ली गई है और उन्हें विकसित करने का काम भी चल रहा था।”

गिलानी ने एक बयान में कहा, “वे पूरी ईमानदारी से चाहते हैं कि कश्मीरी पंडित वापस लौटें लेकिन उन्हें किसी विशेष कॉलोनियों में बसाने का विरोध करेंगे। यह कदम हमारे सामाजिक और सांस्कृतिक संबंधों में नकारात्मकता लाएगा। 1947 के विस्थापितों का हम खुली बाहों से पूरी तरह स्वागत करते हैं।”

राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर गिलानी के रुख का समर्थन किया। उन्होंने कहा, “मैं गिलानी साहब के बयान से हर्ष महसूस करती हूँ। यह कश्मीरी मुसलमानों द्वारा साझा की गई भावना है, जो अपने पंडित भाइयों को वापस घर लाना चाहती है।”