समाचार
सुषमा स्वराज का अंतिम संस्कार 3 बजे राजकीय सम्मान के साथ, आखिरी ट्वीट 370 पर

पूर्व विदेश मंत्री और दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री रहीं सुषमा स्वराज का 67 वर्ष की आयु में मंगलवार शाम को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। तबीयत बिगड़ने पर उन्हें रात में एम्स में भर्ती किया गया था, जहाँ उन्होंने अंतिम साँस ली।

शाम 7.30 बजे उन्होंने अंतिम ट्वीट किया था-


एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, भाजपा की वरिष्ठ नेता का पार्थिव शरीर बुधवार सुबह आठ बजे से 11 बजे तक अंतिम दर्शन के लिए दिल्ली स्थित उनके निवास स्थान पर रखा जाएगा। इसके बाद दोपहर 12 बजे उनके पार्थिव शरीर को भाजपा मुख्यालय में रखा जाएगा, जहाँ पार्टी नेता और कार्यकर्ता उन्हें श्रद्धाँजलि अर्पित करेंगे।

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बताया, “3 बजे सुषमा स्वराज के पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिए दिल्ली के लोधी रोड स्थित शवदाह गृह ले जाया जाएगा। वहाँ पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार होगा।”

सूत्रों की मानें तो उन्हें शाम को सीने में दर्द की शिकायत उठी थी। इसके बाद उन्हें रात करीब साढ़े नौ बजे अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) लाया गया। उन्हें आपातकालीन वॉर्ड में ले जाया गया। डॉक्टरों ने बताया कि कार्डियक अरेस्ट की वजह से उनका निधन हो गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई बड़े नेताओं ने सुषमा स्वराज के निधन पर गहरा शोक जताया है।

प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, “एक बेहतरीन प्रशासक सुषमा जी ने जितने भी मंत्रालय संभाले, सभी में बेहतरीन काम किया। नए पैमाने तय किए। कई राष्ट्रों के साथ भारत के बेहतर संबंध स्थापित करने की दिशा में कदम उठाए। एक मंत्री के तौर पर हमने उनकी भावुक के साथ मददगार छवि भी देखी। उन्होंने विश्व के किसी भी कोने में मुश्किल में फंसे भारतीयों की मदद की।”