समाचार
सुशील मोदी का लालू पर प्रहार, “सीबीआई से बचने के लिए पकड़े थे भाजपा के पैर”

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव पर उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने टिप्पणी की है। सुशील ने कहा है कि लालू अपने फायदे के लिए किसी के भी सामने हाथ जोड़ सकते हैं। सुशील ने यह दावा किया है कि लालू ने सीबीआई से बचने के लिए भाजपा के सामने विनती की थी।

उप मुख्यमंत्री ने पटना में प्रेस कांफ्रेंस आयोजित करके यह बताया है कि जब सीबीआई ने चारा घोटाले का मामला सर्वोच्च न्यायालय के पास भेजा था तब लालू ने प्रेम यादव के माध्यम से केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को संदेश भिजवाया था कि अगर वह लालू को सीबीआई से बचाने में मदद करेंगे तो लालू एक दिन में नितीश कुमार का इलाज कर देंगे।

हालाँकि जेटली ने लालू के प्रस्ताव को नकारते हुए कहा कि सीबीआई एक स्वायत्त संस्था है और वह उसके बीच में नहीं आना चाहते हैं। यह बताते हुए सुशील ने कहा कि लालू ज़रूरत पड़ने पर किसी के भी पैर पकड़ सकते हैं।

सुशील मोदी ने बताया कि वर्त्तमान में भाजपा और आरएसएस पर टिप्पणी करने वाले लालू ने बिहार में सरकार भी भाजपा की ही मदद से बनाई थी और मदद मांगने के लिए वह भाजपा के दफ्तर भी गए थे।

लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले मामले में होटवार जेल में सजा काट रहे हैं। फ़िलहाल उनका स्वस्थ्य सही न होने के कारण वह रिम्स में भर्ती हैं। झारखण्ड उच्च न्यायालय ने चाईबासा ट्रेजेरी घोटाले के दो मामलो में लालू को 5-5 साल की सजा सुनाई है, वहीं देवघर ट्रेजरी घोटाले में साढ़े तीन साल की सजा सुनाई है।