समाचार
सुरेश रैना ने पंत की असफलता के बीच टीम में नंबर चार के लिए स्वयं को किया प्रस्तावित

भारतीय क्रिकेट टीम से बाहर चल रहे सुरेश रैना को भरोसा है कि वह टी-20 और एकदिवसीय अंतर-राष्ट्रीय मैचों में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी कर सकते हैं। वे आखिरी बार 2018 में इंग्लैंड के खिलाफ खेले थे। अब वे टीम इंडिया में वापसी की कोशिश कर रहे हैं।

द हिंदू  से रैना ने कहा, “मैं भारत के लिए नंबर-4 पर बल्लेबाजी कर सकता हूँ। मैंने पहले भी इस नंबर पर बल्लेबाजी की है और अच्छा प्रदर्शन किया है। वर्ष 2020 और 2021 में दो टी-20 विश्वकप खेले जाने हैं और मैं मौके की तलाश में हूँ।”

भारतीय टीम में लंबे समय से नंबर-4 पर बल्लेबाजी को लेकर समस्या बनी हुई है। अंबाती रायडू और विजय शंकर को इस क्रम में बल्लेबाजी के लिए चुना गया था। हालाँकि, दोनों कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए। उसके बाद विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत को जगह दी गई लेकिन वह लगातार खराब प्रदर्शन कर रहे हैं।

इस पर रैना ने कहा, “पंत भ्रमित दिखाई देते हैं और अपना स्वाभाविक खेल नहीं खेल पा रहे हैं। वे सिंगल ढूंढ़ते हैं, गेंद रोकते हैं। फिर उन्हें लगता है कि वे चीजों को समझ नहीं पा रहे हैं। उनसे किसी को बात करने की ज़रूरत है, जैसा महेंद्र सिंह धोनी करते हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “क्रिकेट एक मानसिक खेल है और पंत को इसकी सख्त आवश्यकता है, ताकि वह अपना स्वाभाविक आक्रामक खेल खेलें। अभी लग रहा है कि वे निर्देशों के तहत खेल रहे हैं और उसे भी सही से लागू नहीं कर पा रहे हैं।”

सुरेश रैना ने धोनी की वापसी पर कहा, “वे अब भी भारतीय टीम को बहुत कुछ दे सकते हैं। वे फिट हैं। वे एक बेहतरीन विकेटकीपर हैं और क्रिकेट के सबसे बड़े फिनिशर हैं। टी-20 विश्वकप में भारत के लिए धोनी सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी साबित होंगे।”