समाचार
टाटा समूह- साइरस मिस्त्री के कार्यकारी अध्यक्ष बनने पर सर्वोच्च न्यायालय ने लगाई रोक

सर्वोच्च न्यायालय ने साइरस मिस्त्री के टाटा समूह का कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने के निर्णय पर शुक्रवार को रोक लगा दी है। मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे और न्यायमूर्ति सूर्यकांत की पीठ ने शुक्रवार को यह अहम फैसला सुनाया।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रीय कंपनी विधि अपीलीय न्यायाधिकरण (एनसीएलएटी) के आदेश पर सर्वोच्च न्यायालय ने रोक लगा दी। इसके साथ साइरस मिस्त्री समेत अन्य को नोटिस भी जारी किया गया। न्यायालय ने साइरस मिस्त्री से कहा, “वह चार सप्ताह के भीतर टाटा संस के सवालों के जवाब दें।”

इससे पहले 18 दिसंबर को एनसीएलएटी ने मिस्त्री को टाटा ग्रुप का कार्यकारी अध्यक्ष बनाने का निर्णय सुनाया था। न्यायाधिकरण ने एन चंद्रशेखरन की नियुक्ति को भी अवैध बताया था लेकिन उस आदेश को न्यायालय में चुनौती दे दी गई।

साइरस मिस्त्री ने रविवार को एक बयान में कहा था, “टाटा समूह में वापस लौटने में उनकी कोई दिलचस्पी नहीं है और यह निर्णय समूह के हित में लिया गया है। साइरस मिस्त्री दिसंबर 2012 में रतन टाटा के स्थान पर टाटा संस के कार्यकारी अध्यक्ष बने थे।”