समाचार
पश्चिम बंगाल में कस्टम मामले पर सर्वोच्च न्यायालय, “वहाँ बहुत कुछ गंभीर चल रहा है”

सर्वोच्च न्यायालय ने तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा, “पश्चिम बंगाल में कुछ बहुत गंभीर चल रहा है।” न्यायालय ने यह टिप्पणी कोलकाता हवाई हड्डे पर तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी के भतीजे की पत्नी का सामान जाँचने के मामले में दी है। कोर्ट सीमा शुल्क अधिकारियों के कथित उत्पीड़न के मामले की सुनवाई कर रही है।

प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया  की रिपोर्ट के अनुसार, मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा, “पश्चिम बंगाल में हो क्या रहा है। किसी ने हमारा ध्यान बहुत गंभीर चीज की ओर आकर्षित किया है। हमें अभी तक यह पता नहीं है कि दावा किसका है लेकिन हम इस मामले की जड़ तक जाना चाहते हैं।”

पश्चिम बंगाल की ओर से पेश वकील और कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने याचिका पर अपनी आपत्ति दर्ज करनी चाहिए। हालांकि, मुख्य न्यायाधीश ने दलील सुनने से साफ इनकार कर दिया। सर्वोच्च न्यायालय ने कहा, “हमें उस वक्त घटना पर स्वतः संज्ञान लेना चाहिए था।” कोर्ट ने पश्चिम बंगाल सरकार को नोटिस भी जारी किया है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी की पत्नी रूजीरा बनर्जी को सीमा शुल्क अधिकारियों ने कोलकाता हवाई अड्डे पर दो किलो सोना ले जाने के दौरान जाँच के लिए रोका था। अधिकारियों ने जब सोने के बारे में पूछा तो रूजीरा ने पति को फोन कर दिया। इसके बाद कई पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए और उन्होंने मामले में ज़बरदस्ती हस्तक्षेप कर कस्टम अधिकारियों की जांच प्रभावित कर दी। इस पर भाजपा नेताओं ने विस्तृत जांच करवाने को कहा है।