समाचार
अयोध्या की अविवादित भूमि पर पूजा की याचिका को सर्वोच्च न्यायालय ने किया खारिज

सर्वोच्च न्यायालय ने अयोध्या में 67.7 एकड़ की अविवादित भूमि पर पूजा करने की अनुमति मांगने वाली याचिका को खारिज कर दिया।

द इंडियन एक्सप्रेस  की रिपोर्ट के अनुसार, मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने याचिका पर टिप्पणी की, “आप इस देश को कभी शांति से नहीं रहने देंगे। आपको बस हर चीज में दखल देना है। हम आपकी सुनवाई नहीं करेंगे।”

यही नहीं, सर्वोच्च न्यायालय ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय द्वारा याचिकाकर्ता पर लगाया गया पाँच लाख रुपये का जुर्माना भी हटाने से इनकार कर दिया। इससे पहले भी उच्च न्यायालय ने एक अलग याचिकाकर्ता पर जुर्माना लगाया था, जिसने अयोध्या की विवादित भूमि पर नमाज पढ़ने की अनुमति मांगी थी।

इससे पहले भाजपा के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने फरवरी में सर्वोच्च न्यायालय का रुख किया था। वह अयोध्या की विवादित भूमि पर पूजा करने के अपने मौलिक अधिकार को लागू करने की मांग करना चाहते थे।