समाचार
वायुसेना ने नाकाम की कोशिश, सुखोई-30 ने बीकानेर में मार गिराया पाकिस्तानी ड्रोन

पाकिस्तान की कोशिशों पर एक बार फिर वायु सेना ने विराम लगा दिया है। सोमवार (4 मार्च) को वायु सेना के ज़मीन पर स्थित राडार स्टेशन ने एक मानव रहित वायु विमान को भारत की सीमा में पकड़ा जिसके बाद भारतीय वायु सेना हलचल में मच गई।

भारतीय वायु सेना के सुखोई-30 विमान ने सुबह लगभग 11 बजे के आस-पास राजस्थान के बीकानेर में पाकिस्तानी ड्रोन को नष्ट कर दिया, वायु सेना अधिकारी ने बताया। इससे पहले भी एक बार भारतीय सीमा में घुस रहे पाकिस्तानी ड्रोन को गुजरात के कच्छ में 26 फरवरी के दिन नष्ट किया गया था और खबर है कि 2 दिन पहले भी पाकिस्तान के एक ड्रोन को राजस्थान के बाड़मेर इलाके में देखा गया था जिसके बाद उसको भी नष्ट कर दिया था।

लगातार हो रही पाकिस्तान की हरकतों से यह पता लग रहा कि विरोधी देश भारत की गतिविधियों पर नज़र रखना चाहता है लेकिन भारतीय सेना उससे बार-बार नाकाम कर देती है। 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान के बालाकोट में किये हमले के बाद पाकिस्तानी ड्रोन की गतिविधियों को लगातार देखा जा रहा है।

भारतीय वायुसेना के अधिकारी ने बताय कि 2 मार्च को पाकिस्तानी ड्रोन की गतिविधियों को देखने के बाद सुखोई-30 के साथ-साथ कई और विमानों  को भी भेजा गया था लेकिन उन्होंने बाकि विमानों की जानकारी नहीं दी है।

सैन्य अभियानों के महानिदेशक मेजर जनरल एस एस महल ने बताय कि वो किसी भी प्रकार की आपत्कालीनता के लिए तैयार हैं, उन्होंने बताया कि ज़मीन पर आधारित वायु सेना के हथियार सीमा पर तैनात हैं और ज़रूरत पड़ने पर किसी भी वक्त उन्हें इस्तेमाल किया जा सकता है, टाइम्स ऑफ़ इंडिया  की रिपोर्ट में बताया गया।