समाचार
सुखोई-30 से डीआरडीओ द्वारा विकसित एंटी-रेडिएशन मिसाइल रुद्रम का सफल परीक्षण

भारत ने शुक्रवार (9 अक्टूबर) को एंटी-रेडिएशन मिसाइल रुद्रम का लड़ाकू विमान सुखोई-30 से सफल परीक्षण किया। इस मिसाइल को रक्षा अनुसंधान एवं विकास परिषद (डीआरडीओ) ने विकसित किया है। इसका परीक्षण पूर्वी तट पर किया गया।

टाइम्स नाऊ की रिपोर्ट के अनुसार, यह मिसाइल भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के लड़ाकू विमानों को हवाई श्रेष्ठता और कुशल क्षमता प्रदान करेगी।

दुश्मनों के हवाई बचाव को देखते हुए इसे डिज़ाइन किया गया है। इस मिसाइल को दुश्मन के निगरानी राडार, ट्रैकिंग और संचार प्रणालियों को नष्ट करने के लिए ऊँचाई की एक अलग सीमा से लॉन्च किया जा सकता है।

यह भारतीय वायुसेना के शस्त्रागार में अपनी तरह की पहली मिसाइल है। इसे भविष्य में मिराज 2000, जगुआर, एचएएल तेजस और एचएएल तेजस मार्क 2 के साथ भी एकीकृत किया जा सकता है। वर्तमान में इसका प्राथमिक परीक्षण मंच सुखोई एसयू-30एमकेआई है।