समाचार
ओडिशा में शौर्य मिसाइल का सफल परीक्षण, 800 किमी लक्ष्य को तबाह करने की क्षमता

भारत ने ओडिशा के बालासोर से शौर्य मिसाइल के नए संस्करण का शनिवार (3 अक्टूबर) को सफल परीक्षण किया। ज़मीन से ज़मीन पर मार करने वाली यह बैलेस्टिक मिसाइल परमाणु क्षमता से सुसज्जित है। यह 800 किलोमीटर दूर तक अपने लक्ष्य को तबाह कर सकती है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, यह मौजूदा मिसाइलों की तुलना में हल्की है और इसका उपयोग भी आसान है। यह भी बताया जा रहा है कि लक्ष्य की ओर बढ़ते हुए अंतिम चरण में मिसाइल हाइपरसोनिक गति हासिल कर लेती है।

भारत ने इस आधुनिक मिसाइल का परीक्षण ऐसे समय पर किया है, जब एलएसी पर चीन के साथ तनाव बढ़ता ही जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस वर्ष घोषणा के बाद रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) रणनीतिक मिसाइल के क्षेत्र में देश को पूर्ण रूप से आत्मनिर्मर बनाने के प्रयास में है।

भारत ने इस बीच ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का भी सफल परीक्षण किया, जो 400 किमी दूर तक लक्ष्य को तबाह कर सकती है। यह पिछली मिसाइल की क्षमता से 100 किलोमीटर अधिक है। शौर्य मिसाइल का पहला परीक्षण 2008 में ओडिशा के चांदीपुर समेकित परीक्षण रेंज से किया गया था। सितंबर 2011 में दूसरा परीक्षण किया गया था। पहले इसकी क्षमता 750 किलोमीटर तक थी।