समाचार
जिग्नेश मेवाणी का विवादित बयान, ‘मोदी की जीत सामूहिक पागलपन का नतीजा’

गुजरात से विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी ने कहा, “मैं 2019 के आम चुनावों के परिणाम से आश्चर्यचकित हूँ। अन्य अहम मुद्दों को दरकिनार कर भाजपा का हिंदुत्व का मुद्दा प्रबल रहा। यहाँ तक कि हमारे मूल मतदाता आधार माने जाने वाले दलितों ने भी भाजपा का समर्थन किया।”

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, मेवाणी ने कहा, “मैं समझ नहीं सकता दलितों ने इस बार भाजपा को वोट क्यों दिया, जबकि उनके पास इसका कोई कारण नहीं था। उन्हें नौकरियाँ नहीं मिल रही हैं। कृषि संकट और महँगाई झेलनी पड़ रही है। भाजपा की यह जीत चौंकाने वाली है।”

उन्होंने स्वीकार किया कि वह जनता की नब्ज नहीं पकड़ पाए थे। दलित नेता ने कहा, “मुझे लगा कि ये मुद्दे मोदी को परेशानी में डालेंगे लेकिन उनकी हिंदुत्व की संस्कृति प्रबल हुई। यह सामूहिक पागलपन था, जिसने उन्हें फिर से जीत दिलाई है।”

बेगूसराय में कन्हैया कुमार की हार पर मेवाणी ने कहा, “मेरे समझ में नहीं आ रहा कि वहाँ पर कन्हैया कैसे हार गए। वहाँ तो उनके पक्ष में हवा थी। वहां लोग उनके पीछे पागल थे। उसकी हार बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। साध्वी प्रज्ञा जैसे प्रत्याशी जीत गए, जबकि होनहार युवा कन्हैया की तरह हार गए। यह राष्ट्र के लिए खेदजनक स्थिति है।”

जिग्नेश मेवाणी ने कहा, “अब मेरा पूरा ध्यान अपने निर्वाचन क्षेत्र वडगाम में दलित-मुस्लिम एकता और सार्वजनिक स्वास्थ्य, शिक्षा व बेरोजगारी को लेकर देशव्यापी अभियान पर रहेगा।”