समाचार
जादवपुर विश्वविद्यालय में छात्रों ने बंगाल के राज्यपाल धनखड़ को काले झंडे दिखाए

सोमवार (23 दिसंबर) को जादवपुर विश्वविद्यालय के छात्रों ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को घेर लिया और दो बार काले झंडे भी दिखाए।

द वीक की खबर के अनुसार इस घटनाक्रम के पीछे की वजह है कि राज्यपाल धनखड़ ने जादवपुर विश्वविद्यालय द्वारा 24 दिसंबर को निर्धारित विशेष दीक्षांत समारोह के टाले जाने को अवैध और अमान्य कहा।

इसी महीने की शुरुआत में संसद के दोनों सदनों द्वारा पारित नागरिकता (संशोधन) अधिनियम, 2019 (सीएए) के खिलाफ जारी विरोध प्रदर्शन से होने वाली संभावित परेशानी के मद्देनजर जादवपुर विश्वविद्यालय ने दीक्षांत समारोह स्थगित करने का निर्णय लिया गया था।

राज्यपाल धनखड़ के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों में, सीपीआई(एम) समर्थित एसएफआई, कला संकाय छात्र संघ (एएफएसयू), एआईएसए, और इंजीनियरिंग एवं प्रौद्योगिकी छात्र संघ (एफईटीसयू) के छात्र शामिल थे।

जब राज्यपाल धनखड़ जादवपुर विश्वविद्यालय के न्यायालय की एक बैठक में भाग लेने के लिए विश्वविद्यालय पहुँचे तो प्रदर्शनकारियों ने उनकी कार को घेर लिया और चिल्लाते हुए नारेबाज़ी करते हुए उन्हें काले झंडे भी दिखाए।

गौरतलब है कि धनखड़ प्रदर्शन कर रहे छात्रों की वजह से बैठक में शामिल नहीं हो पाए क्योंकि जहाँ बैठक होनी थी, उस कक्ष के रास्ते को प्रदर्शनकारियों ने अवरुद्ध कर दिया था।