समाचार
बंगाल में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष घोष के काफिले पर पत्थरबाजी, राष्ट्रपति शासन की मांग

पश्चिम बंगाल में गत कई वर्षों से भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्याएँ हो रही हैं। इसको लेकर नाराज़ पार्टी ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है। उनका आरोप है कि राज्य में कानून-व्यवस्था पूरी तरह बिगड़ चुकी है।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, गुरुवार (12 नवंबर) को राज्य में प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष के काफिले पर पत्थरबाजी की गई थी। उन पर यह हमला तब हुआ, जब वह अलीपुरद्वार से निकल रहे थे। उसी वक्त काफिले पर कुछ उपद्रवियों ने पत्थर फेंके। पत्थरबाजी में दिलीप घोष की गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई थी।

इस घटना के बाद से भाजपा ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस पर हमलावर हो गई है। भाजपा ने हमले के लिए गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएमएम) के विमल गुरुंग गुट पर संदेह जताया है। कहा जा रहा है कि जिस रास्ते से दिलीप वापस लौट रहे थे वहीं पर जीजेएमएम (विमल गुरुंग गुट) के कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे थे। जीजेएमएम कार्यकर्ताओं ने काले झंडे भी दिखाए थे।

बता दें कि राज्य में अगले वर्ष विधानसभा चुनाव होने हैं। इसको लेकर भाजपा पूरी तरह मुस्तैद दिखाई दे रही है। वह ममता सरकार को हराने के लिए पूरी कोशिश में लगी है। बंगाल की बात करें तो वहाँ विधानसभा की 294 सीटें हैं, जिसमें गत चुनाव में भाजपा का प्रदर्शन काफी खराब रहा था। तृणमूल कांग्रेस को सबसे अधिक 211 सीटें मिली थीं, जबकि कांग्रेस को 44, लेफ्ट को 26 और भाजपा को मात्र 3 सीटें ही मिल पाई थीं।