समाचार
शाहजहांपुर में कमलेश तिवारी के हत्यारों को नहीं पकड़ पाई एसटीएफ, आरोपी थे चौकन्ने

शाहजहांपुर में कमलेश तिवारी के हत्यारों को पकड़ने में एसटीएफ 10 मिनट के अंतर से चूक गई। लगता है कि आरोपियों को पहले से ही शक था कि उनके आसपास एसटीएफ है। इस वजह से उन्होंने करीब एक घंटे के अंदर चार दिल्ली की ट्रेन होने के बावजूद उनका स्टेशन पर इंतजार नहीं किया और वहाँ से चले गए।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी पलिया से शाहजहांपुर स्टेशन पहुँचे तो दिल्ली की सभी ट्रेनें वक्त पर थीं। वे स्टेशन के अंदर गए लेकिन ट्रेन में बैठे नहीं। वे पैराडाइज़ होटल के आगे से पैदल गुज़रे, तब एक अमृतसर से गोरखपुर जाने के लिए ट्रेन खड़ी थी। ट्रेन उनके सामने से गुज़रने वाली थी, तब भी वे उसमें नहीं चढ़े। वह बिना रुके स्टेशन रोड से चले गए।

सूत्रों की मानें तो दोनों आरोपी दिल्ली जाना चाहते थे। वह जिस वक्त शाहजहांपुर स्टेशन पहुँचे थे, तब करीब एक घंटे के अंतराल में चार दिल्ली की ट्रेनें मिल सकती थीं। वे गिरफ्तारी के डर से वहाँ रुकने की बजाए बस स्टैंड की तरफ चल गए थे।

इस दौरान उन्होंने एक ठेले पर सिगरेट पी थी और पैदल ही बस स्टैंड की ओर चल दिए। पैराडाइज़ होटल के सामने से गुज़रने के दौरान दोनों की फुटेज सीसीटीवी में कैद हो गई। दोनों आरोपी बेहद चौकन्ने नज़र आ रहे थे। एक ने जींस-टीशर्ट पहन रखी थी तो दूसरे ने जींस और शर्ट।