समाचार
स्टार्टअप इंडिया के तहत प्रतिदिन 26 को मिल रही मान्यता, संख्या 24,927 पहुँची

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के महत्वाकांक्षी स्टार्टअप इंडिया कार्यक्रम में सकारात्मक बढ़ोतरी देखी गई है। इसके तहत नामांकित स्टार्टअप की कुल संख्या 24,927 को छू गई है, जो मार्च 2018 के अनुसार नामांकित 8,939 स्टार्टअपों की संख्या की करीब तीन गुना है।

फाइनेंशियल एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) को मोदी सरकार की प्रमुख पहल में हर रोज 26 स्टार्टअप को मान्यता देने और नामांकन हो रहे हैं। महाराष्ट्र में 12,064 के बाद दिल्ली में 10,272 और कर्नाटक में 7,635 स्टार्टअप हैं। ये भारत में डीपीआईआईटी से मान्यता प्राप्त शीर्ष 3 पारिस्थितिकी तंत्र हैं।

डीपीआईआईटी ने अपने विज़न डॉक्यूमेंट में 2024 तक 50,000 नए स्टार्टअप्स, 20 लाख प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष नौकरियाँ, 500 नए इनक्यूबेटर व एक्सेलेरेटर, शहरी निकायों में 100 इनोवेशन ज़ोन और इनोवेटिव स्टार्टअप की सहायता करने के लिए 7 क्रियाशील रिसर्च पार्क का लक्ष्य रखा था।

सीएसआर फंडिंग बढ़ाने के साथ विभाग ने इनक्यूबेटरों को 10,000 करोड़ रुपये के फंड का पूरा कोष आवंटित करने का प्रस्ताव दिया था। डीपीआईआईटी ने प्रौद्योगिकी स्टार्टअप के लिए 1,000 करोड़ रुपये का भारत स्टार्टअप फंड स्थापित किया और स्टार्टअप को बीजपोषित करने के लिए 1,000 करोड़ रुपये की बात भी कही।