समाचार
श्रीलंका में नौ मुस्लिम मंत्रियों ने अपने पद से इस्तीफा देने का निर्णय किया

श्रीलंका में हुए सिलसिलेवार आत्मघाती हमलों के बाद देश में सांप्रदायिक हिंसा बढ़ने के चलते नौ मुस्लिम मंत्रियों ने अपने पद से इस्तीफा देने का निर्णय किया है।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, मंत्रियों का कहना है, “देशभर में लगातार हो रही हिंसा में मुसलमानों को निशाना बनाया जा रहा है। सरकार उनकी रक्षा में नाकाम साबित हो रही है।”

श्रीलंका में बौद्ध भिक्षुओं के प्रदर्शन के बाद इस्तीफा देने का निर्णय करने वालों में कैबिनेट मंत्री कबीर हाशिम, गृहमंत्री हलीम, रिशद बतीउद्दीन, राज्य मंत्री फैजल कासिम, हारेश, अमीर अली शिहाबदीन, सैयद अली जाहिर मौलाना और उपमंत्री अब्दुल्ला महरूफ शामिल हैं।

जेल मंत्री रऊफ हकीम ने कहा, “सभी मंत्री पद से इस्तीफा दे देंगे पर सरकार को समर्थन जारी रहेगा। हालाँकि, यह तभी संभव हो पाएगा, जब सभी अल्पसंख्यकों को समान न्याय और हिंसा की निष्पक्ष जाँच के बाद दोषियों को सजा मिले। यदि ऐसा नहीं हुआ तो हम समर्थन के बारे में फिर से विचार करेंगे।”

उधर, निलंबित पुलिस प्रमुख पी.जयसुंदरा ने राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना को धमाकों को रोकने में नाकाम बताया। उन्होंने सर्वोच्च न्यायालय से कहा, “9 अप्रैल को हमें नेशनल इंटेलिजेंस से एक पत्र मिला था। इसमें हमले की जानकारी थी पर स्टेट इंटेलिजेंस सर्विसेज (एसआईएस) के प्रमुख नीलांत जयव‌र्द्धने ने लापरवाही बरती। राष्ट्रपति ने जयवर्द्धने को राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मामलों की जानकारी सीधे प्रधानमंत्री को देने के लिए कहा था।”