समाचार
भारत से हमलावरों के संबंध होने के कोई साक्ष्य नहीं मिले- श्रीलंका राष्ट्रपति

ईस्टर उत्सव पर श्रीलंका में हुए हमले की पूर्व में खुफिया जानकारी मिलने के बावजूद उसे साझा न करने पर राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने रक्षा सचिव और पुलिस महानिरीक्षक को निलंबित कर दिया।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, मैत्रीपाला सिरिसेना ने कहा, “देश में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों का अलर्ट भारत ने 15 दिन पहले ही जारी कर दिया था लेकिन हमारे अधिकारियों ने यह जानकारी साझा नहीं की।”

उन्होंने कहा, “अभी तक भारत से हमलावरों के संबंध होने के कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं। 4 अप्रैल को भारतीय खुफिया एजेंसियों ने हमले का अलर्ट भेजा था। इस संबंध में रक्षा सचिव और पुलिस महानिरीक्षक के बीच पत्राचार भी हुआ था। हमले की जाँच में भारत, अमेरिका और ब्रिटेन ने हमारी बहुत मदद की है।

श्रीलंका के राष्ट्रपति 30 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने दिल्ली पहुँचे थे। इससे पूर्व 21 अप्रैल को श्रीलंका में 8 सिलसिलेवार आत्मघाती हमले हुए थे। इनमें करीब 250 लोगों की जान गई थी और 500 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे। आतंकी संगठन आईएस ने हमले की जिम्मेदारी ली थी।