समाचार
कमाई से पहले खर्च? बिहार में नीतिश कुमार ने 25,000 छात्र क्रेडिट कार्ड दिए

छात्र क्रेडिट कार्ड योजना की ज़िम्मेदारी बिहार राज्य शिक्षा वित्त निगम (बीएसईएफसी) द्वारा संभालने के बाद बिहार में इस योजना से लाभान्वित हुए छात्रों की संख्या 25,000 से अधिक हो गई है, इंडियन एक्सप्रेस  की रिपोर्ट में बताया गया। उल्लेखनीय है कि बीएसईएफसी छात्रों को कम ब्याज दर पर उच्च शिक्षा हेतु ऋण दे रहा है। पूर्व में यह योजना बैंकों के माध्यम से चलाई जाती थी।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, “मुझे प्रसन्नता है कि तीन-चार महीने पहले प्रारंभ हुए बीएसईएफसी प्रभावशाली सिद्ध हुई तथा यह योजना छात्रों में चर्चित हो रही है। मुझे बताया गया है कि एससीसी योजना के अंतर्गत लाभार्थियों की संख्या 25,000 से अधिक पहुँच गई है।” पूर्व चंपारण के महावीर रामेश्वर इंटर कॉलेज में एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने इस योजना की सफलता पर प्रकाश डाला।

उन्होंने कहा कि जब एससीसी बैंकों के माध्यम से संचालित होती थी तो डेढ़ साल में 9,000 छात्रों को ही इस योजना का लाभ मिल पाया था। साथ ही कहा कि योजना के अंतर्गत छात्रों के लिए ऋण 4 प्रतिशत की ब्याज दर पर तथा छात्राओं के लिए 1 प्रतिशत की दर पर दिया जा रहा हैI

गौरतलब है कि बिहार का सकल नामांकन अनुपात 13.9 प्रतिशत है। वहीं देश का औसत 24 प्रतिशत है। नीतीश ने कहा उन्हें उम्मीद है कि अगले कुछ सालों में यह आँकड़ा देश के औसत अनुपात से अधिक तथा क़रीब 30 प्रतिशत तक पहुँच जाएगा I