समाचार
पटना एसपी को बीएमसी ने किया जबरन क्वारंटाइन, नीतीश बोले- “यह उचित नहीं है”

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जाँच के लिए मुंबई गए पटना के पुलिस अधीक्षक (एसपी) विनय तिवारी के क्वारंटाइन किए जाने को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, “यह कदम बिल्कुल भी उचित नहीं है। यह राजनीतिक नहीं है बल्कि बिहार पुलिस अपना कर्तव्य निभा रही है। हमारे डीजीपी वहाँ के अधिकारियों से बात करेंगे।”

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) का कहना है, “रविवार को एसपी को मुंबई हवाई अड्डे पर घरेलू आगमन के वर्तमान कोविड-19 दिशा-निर्देशों के अनुसार क्वारंटाइन किया गया है।”

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने ट्वीट करके बताया, “आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी बिहार पुलिस टीम का नेतृत्व करने के लिए आधिकारिक ड्यूटी पर पटना से मुंबई पहुँचे लेकिन बीएमसी अधिकारियों ने जबरन उन्हें क्वारंटाइन कर दिया। अनुरोध के बावजूद उन्हें आईपीएस मेस में आवास प्रदान नहीं किया गया। इसके बाद वह गोरेगाँव (मुंबई) के एक गेस्ट हाउस में ठहरे हुए थे।”

बिहार पुलिस टीम को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। आरोप हैं कि मुंबई पुलिस बिहार पुलिस टीम का सहयोग नहीं कर रही है। इसी वजह से पटना सिटी एसपी विनय तिवारी को मुंबई भेजा गया था।

जाँच के दौरान पटना पुलिस को अब तक कई अहम सुराग मिले हैं। लोगों के बयान से एसआईटी को पता चला है कि 9 से 13 जून के बीच सुशांत सिंह के मोबाइल में 14 सिम बदले गए थे। उनके घर में हुई पार्टी के बाद 14 जून को सुशांत ने कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी।