समाचार
माइका मिसाइल ने राफेल में एकीकरण से पहले हवा में ध्वस्त किए लक्ष्य, परीक्षण सफल

भारतीय वायुसेना ने राफेल लड़ाकू विमान के साथ हथियार के एकीकरण से पहले नष्ट होने योग्य हवाई लक्ष्यों (ईएटीएस) का विध्वंस करके दृष्टि से आगे की रेंज (बीवीआर) वाली एंटी-एयर मल्टी-टारगेट माइका मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया।

न्यू इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, सुखोई एसयू-30 एमकेआई फाइटर जेट्स का उपयोग करके इसके दो चरणों में परीक्षण किए गए। इसमें कम ऊँचाई पर नकली हवाई ड्रोन के लक्ष्य को बेअसर किया गया।

एक अधिकारी के हवाले से कहा गया, “मिसाइल के लॉन्च आवरण को सत्यापित करते हुए मिशन के सभी मापदंडों को पूरा किया गया और लक्ष्य को नष्ट कर दिया गया था। इस मिसाइल का उपयोग सुखोई और राफेल फाइटर जेट दोनों में होगा।”

माइका मिसाइल को राफेल और सुखोई एसयू-30 फाइटर जेट दोनों पर तैनात किया जाएगा। जिस मिसाइल को फ्रांस से हासिल किया गया है, वह सभी मौसम स्थितियों में काम करती है और इसका इस्तेमाल हवाई और ज़मीनी इकाइयों द्वारा किया जा सकता है।

दागो और भूलो मिसाइल 500 मीटर से 60 किलोमीटर की दूरी तक लक्ष्य को मार सकती है और क्रमशः सक्रिय राडार और इंफ्रारेड होमिंग सीकर के साथ दो वर्ग में उपलब्ध है।