समाचार
राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी को स्वीकृति, एसएससी आदि सरकारी नौकरियों के लिए एक परीक्षा

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार (19 अगस्त) को राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (एनआरए) के निर्माण को स्वीकृति दे दी। यह ग्रुप बी और सी सरकार की भर्ती परीक्षाओं के साथ आईबीपीएस और आरआरबी पदों के लिए केंद्रीकृत परीक्षण एजेंसी के रूप में काम करेगी।

एनआरए ग्रुप बी और सी (गैर-तकनीकी) पदों के उम्मीदवारों को छाँटने के लिए एक सामान्य पात्रता परीक्षा (सीईटी) आयोजित करेगी। इसमें रेल मंत्रालय, वित्त मंत्रालय-वित्तीय सेवा विभाग, एसएससी, आरआरबी और आईबीपीएस के प्रतिनिधि होंगे।

इस कदम से सरकारी नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों की परेशानियाँ कम होंगी, जिन्हें अभी कई परीक्षाओं के लिए उपस्थित होना पड़ता है। सीईटी परीक्षा में सफलतापूर्वक उपस्थित होने के बाद उम्मीदवार को सीईटी स्कोर मिलेगा, जो परिणाम की घोषणा की तारीख से तीन साल की अवधि के लिए वैध होगा।

एनआरए उन सभी गैर-तकनीकी पदों स्नातक, उच्च माध्यमिक और मैट्रिक के तीन स्तरों के लिए अलग-अलग सीईटी आयोजित करेगा, जिसमें वर्तमान में कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी), रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरसी) और इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सनेल सिलेक्शन (आईबीपीएस) द्वारा भर्ती की जाती है।

सीईटी स्कोर स्तर पर की गई स्क्रीनिंग के आधार पर भर्ती के लिए अंतिम चयन परीक्षा के अलग-अलग विशिष्ट स्तरों (दूसरे, तीसरे आदि) के माध्यम से किया जाएगा, जो संबंधित भर्ती एजेंसियों द्वारा होगा। इस परीक्षा का पाठ्यक्रम सामान्य होगा। इस परीक्षा का पाठ्यक्रम सामान्य होगा।