समाचार
सोशल मीडिया कंपनियाँ 2019 लोकसभा चुनावों के लिए तैयार करेंगी आचार संहिता

भारतीय चुनाव आयोग ने मंगलवार (19 मार्च) को सोशल मीडिया कंपनियों से मुलाकात की और आगामी लोकसभा चुनावों के लिए कुछ सख्त दिशा- निर्देश दिए हैं। सोशल मीडिया कंपनियाँ जैसे फेसबुक, ट्विटर और टिक-टोक के प्रतिनिधियों को बुलाया गया और साथ ही यह आदेश दिए हैं कि वह अपने सोशल मीडिया मंचों के लिए कुछ सख्त कानून बनाएँ जिससे की चुनाव के दौरान आपके मंचों का कोई गलत रूप से इस्तेमाल ना कर पाए, अमर उजाला  ने रिपोर्ट किया।

इस मुलाकात के साथ इन कंपनियों ने भी चुनाव आयोग को आश्वासन दिलाया है कि वह बुधवार तक आयोग को आचार संहिता तैयार करके देंगे।

इस बैठक में चुनाव आयोग के इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया के प्रतिनिधि भी शामिल थे।  सोशल मीडिया कंपनियों में फेसबुक, ट्विटर, टिक-टोक, व्हाट्सऐप, गूगल, शेयरचैट और बिगोटीवी के प्रतिनिधि शामिल थे जिस समय आचार संहिता बनाने की बात की गई।

इस बैठक के दौरान स्पशल मीडिया के गलत इस्तेमाल और साथ ही इन मंचों पर राजनीतिक दलों के विज्ञापनों को लेकर भी कदम उठाए गए, जिसमें यह तय किया गया कि राजनीतिक विज्ञापन चलाने के लिए, इन कंपनियों से अनुमति लेनी पड़ेगी जिससे कि फ़र्ज़ी खबरों पर लगाम लगाई जा सके और साथी पारदर्शिता भी बनी रहे।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि यह आचार सहिंता चुनाव आयोग और राजनीतिक दलों की सहमति से बना एक अनूठा दस्तावेज होगा, जिसकी पालना करना  हर राजनीतिक दल का दायित्व होगा।