समाचार
मौलवी ने वीडियो जारी कर श्रीलंका हमलों को बताया सही, तलाशी अभियान जारी

श्रीलंका में ईस्टर उत्सव के दौरान हुए सिलसिलेवार आत्मघाती हमलों को सही ठहराने वाले ववुनिया और चेट्टीकुलम मंडल के एक मौलवी ( मुख्य इस्लामिक धर्मगुरु) को गिरफ्तार करने के लिए तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। उसने हमलों को सही बताते हुए एक वीडियो जारी किया था।

श्रीलंका मिरर रिपोर्ट के अनुसार, ववुनिया पुलिस आतंकी हमलों को सही ठहराने वाले की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। आईएसआईएस ने हमले की जब जिम्मेदारी ली थी, तब तमिल भाषीय मौलवी मुनजीत ने सोशल मीडिया पर एक भड़काऊ वीडियो जारी किया। कहा जाता है कि उसके आतंकी संगठन नैशनल तौहीद जमात से संबंध थे।

मौलवी ने वीडियो में पीड़ितों के बारे में सतही उल्लेख करने के बाद आतंकवादी हमले को सही ठहराते हुए मोहम्मद के जीवन का एक उदाहरण पेश किया। मौलवी को वीडियो में यह कहते हुए सुना जाता है कि हमला मुसलमानों के धैर्य खोने का परिणाम है। मौलवी ने वीडियो में यह भी कहा, “इस्लामिक राज्य बनना सिर्फ एक चीज है, जिसके लिए संघर्ष शुरू हो गया है।”

ववुनिया में कई तमिल संगठनों ने वीडियो देखकर नाराजगी जाहिर की है। साथ ही स्थानीय अधिकारियों को इस बाबत तुरंत जानकारी दी। वर्तमान में मामले की जांच चेट्टीकुलम पुलिस कर रही है।

श्रीलंका मिरर रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस जब गिरफ्तार करने गई तो परिवार ने बताया कि वो मक्का गया है। पुलिस ने जब उसकी पत्नी को पकड़ने की कोशिश की तो वह यह बताने में असमर्थ थी कि मौलवी का भाई एक स्थानीय नेता था। साथ ही यह पता चला है कि उसकी कानूनी रूप से चार पत्नियां भी हैं।